Posted by: Dr. Neeraj Daiya | 22/11/2017

राजस्थान रत्नाकर, दिल्ली द्वारा पुरस्कार

दिल्ली की सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था द्वारा दिल्ली के शाह ओडिटोरियम में आयोजित ‘राजस्थानी रत्नाकर’ के वार्षिक समारोह में डॉ. नीरज दइया को श्री दीपचंद जैन साहित्य पुरस्कार 16 जुलाई 2017 को प्रदान किया गया।
यह पुरस्कार केन्द्रीय विधि एवं न्याय तथा इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री श्री पी. पी. चौधरी द्वारा प्रदान किए गए। राजस्थानी साहित्य में विशेष योगदान के लिए निर्णायक समिति की समाज सेविका कमला सिंघवी, पद्मश्री शीला झुंझुनवाला, हास्य कवि पद्मश्री सुरेन्द्र शर्मा, ओ.पी. बागला और रमेश जैन ने सर्वसम्मति से डॉ. नीरज दइया को राजस्थानी साहित्य में उनकी उल्लेखनीय सेवाओं के लिए चयनित किया। इन्हें मंचस्थ अतिथियों द्वारा 25 हजार रूपये, प्रशस्ति-पत्र, बुके व शाल प्रदान कर सम्मानित किया।
संस्था के चैयरमैन राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि संस्था पिछले 43 वर्षों से राजधानी क्षेत्र दिल्ली में विविध कार्यक्रम करती रही है, इस बार पुरास्कारों के अलावा जरूरतमंद प्रतिभावान छात्र छात्रों को छात्रवृति भी प्रदान की गई।
मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए केंद्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट राज्यमंत्री श्री मेघवाल ने कहा कि राजस्थानी संस्कृति का संरक्षण करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रीय भाषाओं को विदेशों में मान्यता प्रदान हो गई उन्हें जल्द ही मान्यता दी जानी चाहिए। राजस्थानी, भोजपुरी और भोटी भाषा की मान्यता के लिए जल्द ही शुभ समाचार मिलने वाले हैं।
केन्द्रीय विधि एवं न्याय राज्य मंत्री श्री चौधरी ने संस्था के कार्यों की सराहना करते हुए भाषा, साहित्य और कला की समाज में जरूरत जताई। हास्य कवि पद्मश्री सुरेन्द्र शर्मा ने कहा कि अंग्रेजी जिन युवकों को कार देती है उनको हिंदी और भारतीय भाषाएं संस्कार देती है।

राजस्थान रत्नाकर, दिल्ली द्वारा श्रेष्ठ साहित्य सेवा के लिए इस वर्ष का ‘श्री दीपचंद जैन साहित्य पुरस्कार’ बीकानेर के कवि-आलोचक डॉ. नीरज दइया को अर्पित किया जाएगा। संस्था के चैयरमैन राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि चिकित्सा, समाज सेवा, जनसंचार, साहित्य, खेल-कूद और व्यापार आदि विविध क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्यों के लिए यह पुरस्कार प्रतिवर्ष प्रदान किया जाता है, इस वर्ष राजस्थानी आलोचना के क्षेत्र में उपलब्धिमूलक उल्लेखनीय़ कार्य हेतु डॉ. नीरज दइया को चयनित किया गया है। दिल्ली के शाह आडिटोरियम में इसी माह की 16 तारीख रविवार को सायं 4 बजे होने वाले भव्य वार्षिक समारोह में डॉ. दइया को पुरस्कार अर्पित किया जाएगा। पुरस्कार में 25 हजार रुपये की नगद राशि, प्रशस्ति-पत्र एवं शॉल ओढाकर डॉ. दइया को सम्मानित किया जाएगा । पुरस्कार वितरण समारोह के बाद में प्रसिद्ध नाटक ‘कोर्ट मार्शल’ की प्रस्तुति होगी।
मुक्ति के सचिव राजेन्द्र जोशी ने बताया कि डॉ. नीरज दइया को साहित्य अकादेमी, नई दिल्ली के बाल साहित्य पुरस्कार, राजस्थानी भाषा साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, बीकानेर के अनुवाद पुरस्कार के साथ नगर विकास निगम का “पीथळ पुरस्कार” सादूल राजस्थानी रिसर्च इन्स्टीट्यूट, बीकानेर का तैस्सितोरी अवार्ड, रोटरी क्लब, बीकानेर का “खींव राज मुन्नीलाल सोनी” पुरस्कार, कालू बीकानेर का नानूराम संस्कर्ता राजस्थानी साहित्य सम्मान, कांकरोली उदयपुर का मनोहर मेवाड़ राजस्थानी साहित्य सम्मान, फ्रेंड्स एकता संस्थान बीकानेर द्वारा साहित्य सम्मान तथा सृजन साहित्य संस्थान, श्रीगंगानगर द्वारा सुरजाराम जालीवाला सृजन पुरस्कार अर्पित किए जा चुके हैं। हिन्दी-राजस्थानी में समान गति व अधिकार से लिखने वाले डॉ. दइया की अब तक विभिन्न विधाओं की दो दर्जन से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है। पिछले माह आलोचना पुस्तकें ‘बुलाकी शर्मा के सृजन-सरोकार’ एवं ‘मधु आचार्य आशावादी के सृजन-सरोकार’ पुस्तकें लोकार्पित हुई और चर्चा में है।

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

श्रेणी

%d bloggers like this: